Exam notifications
Hindi

भारत एवं बांग्लादेश ने 2 अरब डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये

भारत ने 9 मार्च 2016 को बांग्लादेश को 2 अरब डॉलर की ऋण सहायता देने के लिये समझौते पर हस्ताक्षर किए. 
इसका उद्देश्य दोनों देशों के मध्य सामाजिक-आर्थिक विकास करना एवं दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंध सुधारना है.
भारत द्वारा किसी भी देश को दी गयी अब तक की सबसे बड़ी ऋण सहायता है. 
•    इस पर बांग्लादेश स्थित ढाका में हस्ताक्षर किये गये जिसमें एक्सिम बैंक के निदेशक एवं प्रबंधक यादुवेंद्र माथुर एवं बांग्लादेश सरकार के वित्त्र मंत्रालय के वरिष्ठ सचिव मोहम्मद मेजाह्बुद्दीन शामिल थे.
•    यह एक्सिम बैंक द्वारा किसी भी देश को दिया गया सबसे बड़ा ऋण है.
•    अब तक एक्सिम बैंक बांग्लादेश को दो बार ऋण दे चुका है जिससे ऋण का कुल योग 2.862 अरब डॉलर हो गया.
•    भारत ने इससे पहले वर्ष 2010 में बांग्लादेश को 1 बिलियन डॉलर का ऋण दिया था.
•    वर्ष 2010 में दी गयी ऋण सहायता का उपयोग संचार संबंधी ढांचागत सुविधा में किया गया था.
•    बाद में इस 200 मिलियन डॉलर की राशि को ग्रांट में बदल दिया गया एवं ऋण की राशि को 800 मिलियन कर दिया गया. 
•    इस दूसरे ऋण का उपयोग बांग्लादेश में सामाजिक एवं विकास परियोजनाओं पर खर्च किया जायेगा जिसमें  रेलवे, रोड, ट्रांसपोर्ट एवं सूचना प्रसारण आदि शामिल हैं.

•    पहले जारी की गयी 862 मिलियन अमेरिकी डॉलर की राशि में निम्न परियोजनाओं का विकास शामिल था:
•    बसों, इंजन, यात्री कोच, प्रयोगशाला के उपकरण और अन्य रोलिंग स्टॉक की खरीद.दूसरे भैरब एवं दूसरे टाईटस पुलों का निर्माण, ढाका टोंगी अनुभाग और टोंगी-जॉयदेबपुर, बांग्लादेश रेलवे के कुलारा-शाहबाजपुर खंड के बीच गेज ट्रैक का दोहरीकरण.